Home » Page 20
hair pyar naam jiska love hindi shayri

Hai pyaar naam jiska, ek aisi kaid hai doston

है प्यार नाम जिसका, एक ऐसी है क़ैद दोस्तों,
ज़िन्दगी बीत जाती है पर सज़ा ख़त्म नहीं होती |

Hai pyaar naam jiska, ek aisi kaid hai doston,
Zindagi beet jaati hai par sazaa khatm nahi hoti.

———————–

चाहा तुम्हे हमेशा पर कभी इज़हार ना कर सका,
कट गई उम्र सारी पर किसी और से प्यार न कर सका,
तुमने माँगा भी तो मांगी जुदाई अपनी,
और मैं था कि इन्कार भी ना कर सका

Chaaha tumhe hamesha par kabhi izhaar naa kar sakaa,
Kat gai umar saari par kisi aur se pyar na kar sakaa,
Tumne maanga bhi to maangi judaai apni,
Aur main tha ki inkaar bhi na kar sakaa

raaj dilon ke khol dete hain pyar bhari shayari

Raaz dilon ke khol dete hain naazuk se ishaare aksar

राज़ दिलों के खोल देते हैं नाज़ुक से इशारे अक्सर,
कि कितनी ख़ामोश इस इश्क़ की जुबां होती है…

Raaj dilon ke khol dete hain naazuk se ishaare aksar,
Ki kitni khaamosh is ishq ki zubaan hoti hai…

hai ye sharab dard ki dawa mere shayari

Hai ye sharaab dard ki dawa mere

है ये शराब दर्द की दवा मेरे,
इसे पीने में कोई खराबी नहीं,
होता है जब दिल में दर्द तो पी लेता हूँ,
वैसे हूँ मैं शराबी नहीं |

Hai ye sharaab dard ki dawa mere,
Isey peene mein koi kharaabi nahi,
Hota hai jab dil mein dard to pee leta hoon,
Waise hoon main sharaabi nahi

dil se roya apne sad shayari

Dil se roya apne lekin hontho se muskura baitha

दिल से रोया अपने पर अपने होंठों से मुस्कुरा बैठा,
यूँही मैं किसी गैर से वफ़ा निभा बैठा,
वो मुझे एक लम्हा भी ना दे पाए अपने प्यार का,
और मैं उस बेवफ़ा के लिए अपनी ज़िन्दगी गँवा बैठा |

Dil se roya apne par honthon se muskuraa baitha,
Yoonhi main kisi gair se vafaa nibha baitha,
Wo mujhe ek lamhaa bhi na de paaye apne pyaar ka,
Aur main us bewafaa ke liye apni zindagi ganwaa baitha…

haal apna tujhe bataun kaise love shayari

Haal Tujhe Main Apna Batau Kaise

हाल तुझे मैं अपना बताऊँ कैसे,
चीर के दिल तुझे अपना दिखाऊँ कैसे,
है रोना वही हमेशा का अभी भी,
दास्ताँ मैं अपनी फिर दोहराऊँ कैसे,
ग़म की अपनी बातें तुझे सुनाऊँ कैसे,
मेरी ख़ामोशी में ही तेरी मोहब्बत है,
अपने इन लब्ज़ों को मैं हिलाऊं कैसे ||

Haal tujhe main apna batau kaise,
Cheer ke dil tujhe apna main dikhaaun kaise,
Hai rona wahi hamesha ka abhi bhi,
Daastaan main apni fir dohraaun kaise,
Gum ki apni baatein tujhe sunaau kaise,
Meri khamoshi mein hi teri mohabbat hai,
Aapne in labjo ko main hilaaun kaise…

khushiyan bahut kam good morning shayari

Khushiyan bahut kam lekin dilon mein armaan bahut hai

खुशियां बहुत कम लेकिन दिलों में अरमान बहुत है,
जिसको भी देखो तुम, परेशान बहुत है |
देखा जब नज़दीक से, तो निकला वो रेत का मकान,
लेकिन दूर से तो इसकी शान बहुत है |
सुना है सत्य का कोई मुक़ाबला नहीं,
लेकिन आज इस दौर में झूठ की पहचान बहुत है |
बड़ी ही मुश्किलों से मिलता है शहर में आदमी,
कहने को तो यहाँ इंसान बहुत हैं |
गुड मॉर्निंग !!

Khushiyan bahut kam lekin dilon mein armaan bahut hai,
Jisko bhi dekho tum, pareshaan bahut hai.
Dekha jab najdeek se, to nikla wo ret ka makaan,
Lekin door se to iski shaan bahut hai.
Suna hai satya ka koi muqaabla nahi,
Lekin aaj is daur mein jhooth ki pehchaan bahut hai.
Badi hi mushkilon se milta hai shehar mein aadmi,
Kehne ko to yahan insaan bahut hai.
Good Morning!!

dosti shayari manjil ke milne se

Manjil ke milne se yaari bhulaayi nahi jaati

Manjil ke milne se yaari bhulaayi nahi jaati,
Kisi hamsafar ke aane se dosti mitaayi nahi jaati,
Doston ki kami to har pal rehti hai is duniya mein,
Yu duriyon se dosti chhipaayi nahi jaati.

मंज़िल के मिलने से यारी भुलाई नहीं जाती,
किसी हमसफ़र के आने से दोस्ती मिटाई नहीं जाती,
दोस्तों की कमी तो हर पल रहती है इस दुनिया में,
यूं दूरियों से दोस्ती छिपाई नहीं जाती

good morning badhaate reh kadam

Badhaate Reh Kadam Kinaara Jaroor Milegaa

Badhaate reh kadam, kinaara jaroor milegaa,
Andhere se ladtaa reh, savera jaroor khilegaa,
Jab thhaan liya hai manjil ko paana, raasta jaroor milegaa,
Ruk mat e raahi, ek din tera waqt jaroor badlegaa.
Good Morning!!

बढ़ाते रह कदम, किनारा जरूर मिलेगा,
अँधेरे से लड़ता रह, सवेरा जरूर खिलेगा,
जब ठान लिया है मंजिल को पाना, रास्ता जरूर मिलेगा,
थक मत ऐ राही, एक दिन तेरा वक़्त जरूर बदलेगा ||
गुड मॉर्निंग!!

love shayari dil ki kitaab

Dil Ki Kitaab Mein Gulaab Uska Tha

दिल की किताब में गुलाब उसका था,
रातों की नींद में ख्वाब उसका था,
कितना प्यार करती हो जब पूछा उससे मैंने,
मर जाऊँगी तुम्हारे बिना जवाब उसका था ||

Dil ki kitaab mein gulaab uska tha,
Raaton ki neend mein khwaab uska tha,
Kitna pyaar karti ho jab puchha usse maine,
Mar jaungi tumhaare bina jawaab uska tha.

love shayari romance

Chhupa Lein Hum Ek Doosre Ko Apni Aagosh Mein Is Tarah

छुपा लें हम एक दुसरे को अपनी आगोश में इस तरह,
कि हवा भी ना गुजर पाएं,
हो जाएँ मदहोश एक दुसरे की मोहब्बत में इस कदर,
कि होश में ही ना आ पाएं !!

Chhupa lein hum ek doosre ko apni aagosh mein is tarah,
ki hawaa bhi naa gujar paaye,
Ho jaayein madhosh ek doosre ki mohabbat mein is kadar,
Ki hosh mein hi naa aa paayein