Home » Page 4
kis tarah ka pyar kar rahe hain shayari

Kis tarah ka pyar kar rahe hain shayari

ना जाने किस तरह का,
प्यार कर रहे हैं हम,
जिनके कभी हो नहीं सकते,
बस उन्ही के हो रहे हैं हम

Naa jaane kis tarah ka,
Pyaar kar rahe hain hum,
Jinke kabhi ho nahi sakte,
Bus unhi ke ho rahe hain hum…

adhoore milan ki aas

Tumhare bina udaas hai ye zindagi shayari

अधूरे मिलन की आस है ये ज़िन्दगी,
हँसी और ग़म का एहसास है ये ज़िन्दगी,
कभी वक़्त मिले तो आना मेरे ख़्वाबों में,
तुम्हारे बिना बहुत उदास है ये ज़िन्दगी।

Adhoore milan ki aas hai ye zindagi,
Hansi aur gam ka ehsaah hai ye zindagi,
Kabhi waqt mile to aana mere khwaabon mein,
Tumhaare bina bahut udaas hai ye zindagi..

padh lo zindagi hamari love shayari

Dil mein tasveer hogi tumhaari pyar shayari

जहाँ चाहे जब भी चाहो,
पढ़ लो ज़िन्दगी हमारी,
चाहे कोई भी पन्ना खोल कर देख लो दिल का,
उसमे तस्वीर होगी बस तुम्हारी।

Jahan chaahe jab bhi chaaho,
Padh lo zindagi hamaari,
Chaahe koi bhi panna khol ke dekh lo dil ka hamare,
Usme tasveer hogi bus tumahari…

tumhari yaad bechain kar jaati hai

Tumhaari yaad mujhe bechain kar jaati hai

तुम्हारी याद मुझे बेचैन कर जाती हैं,
हर जगह मुझे बस तुम्हारी ही सूरत नज़र आती है,
जाने कैसा कर दिया है मुझे तुम्हारी मोहब्बत ने,
अगर कभी नींद आती है तो आँखें रूठ जाती हैं।

Tumhaari yaad mujhe bechain kar jaati hain,
Har tarah mujhe bus tumhaari hi soorat nazar aati hai,
Jaane kaisa kar diya hai mujhe tumhaari mohabbat ne,
Agar kabhi neend aati hai to aankhein root jaati hain

zindagi nashe mein beet jayegi shayari

Amazing hindi love shayari for sharing

मयख़ाने में ज़ाम पीने से क्या फ़ायदा?
सुबह तक तो उतर ही जाएगी,
जरा दो बूँद मेरी मोहब्बत की तो पीकर देखो,
ज़िन्दगी तुम्हारी पूरी नशे में बीत जाएगी…

Maykhaane mein jaam peene se kya faayda?
Subah tak to utar hi jaayegi,
Jara do boond meri mohabbat ki to peekar dekho,
Zindagi tumhaari poori nashe beet jayegi…

Click here to view range of love shayari

gujra karo hokar idhar se love shayari

गुजरा करो इधर से भी होकर कभी-कभी,
आ जाया करो नज़र हमें भी कभी-कभी,
जानते हैं कि रूठना आदत है तुम्हारी,
लगती है ये आदत भी अच्छी तुम्हारी कभी-कभी…

Gujaraa karo idhar se bhi hokar kabhi-kabhi,
Aa jaaya karo nazar humein bhi kabhi-kabhi,
Jaante hain ki roothna aadat hai tumhaari,
Lagti hai ye aadat bhi achcchi tumhaari kabhi-kabhi…

uparwala dost bankar aaya shayari

Uparwala dost bankar aaya shayari

चर्चा हुई जब ऊपरवाले की मेहरबानियों की,
तो मैंने खुद को बेहद ख़ुशनसीब पाया,
जब ज़िन्दगी में जरूरत पड़ी एक अच्छे दोस्त की,
ऊपरवाला खुद ही दोस्त बनकर चला आया

Charcha hui jab uparwale ki meharbaaniyon ki,
To maine khud ko behad khushnaseeb paaya,
Jab zindagi mein jaroorat padi ek achche dost ki,
Uparwala khud hi dost bankar chalaa aaya..

dosti par naaz shayari

Tumhaari dosti par naaz shayari

ऐ दोस्त तुम्हारी दोस्ती पर नाज़ करता हूँ,
मिलने की तुमसे हर समय ख़ुदा से फ़रियाद करता हूँ,
मुझे नहीं पता घरवाले कहते हैं,
कि मैं नींद में भी तुमसे ही बात करता हूँ।

E dost tumhaari dosti par naaz karta hoon,
Milne ki tumse har samay khuda se fariyaad karta hoon,
Mujhe nahi pata gharwale kehte hain,
Ki main neend mein bhi tumse hi baat karta hoon..

love shayari tumhare ishq mein

Ishq mein tumhaare love shayari

इश्क़ में तुम्हारें,
कुछ ऐसा मैं कर जाऊंगा,
तुम्हारे साथ जी सकूँ या ना जी सकूँ,
पर तुम्हारें बिना मैं मर ही जाऊंगा

Ishq mein tumhaare,
Kuchh aisa main kar jaaunga,
Tumhaare saath main ji saku ya naa ji saku,
Par tumhaare bagair main hi jaaunga

sad shayari aankh ke aansoo

4 Sad dard bhari shayari

तुम्हारी बेवफ़ाई ने,
कुछ ऐसा सिला दिया हमें,
ज़हर कम्बख़्त जुदाई का,
पिला दिया हमें।

Tumhari bewafai ne,
Kuchh aisa silaa diya humein,
Zahar kambakht judaayi ka,
Pilaa diya humein…

ज़रा गौर से पढ़ा कीजिये,
हमारे अल्फ़ाजों को,
क्योंकि किसी के लिए हमने,
सच में ज़िन्दगी तबाह की है अपनी।

Jara gaur se padha kijiye
Hamare alfaajon ko,
Kyonki kisi ke liye humne,
Sach mein zindagi tabaah ki hai apni..

बड़े ही दुःख देते हैं वो ज़ख्म, जो हमें बिना हमारी गलती के मिले हों…

Bade hi dukh dete hain wo zakhm, Jo humein bina hamari galti ke mile hon

बड़े ही मासूम होते हैं आँख के आँसू,
सिर्फ उनके लिए ही बहते हैं,
जिन्हे इनकी क़दर नहीं होती।

Bade hi maasoom hote hain aankh ke aansoo,
Sirf unke liye hi behte hain,
Jinhe inki kadar nahi hoti…