Home » SMS » Love Shayari

Love Shayari

love pyar bhari shayari in hindi

लव शायरी के इस अनोखे संग्रह में आपका स्वागत है। हम लेकर आये हैं कुछ ख़ास प्यार भरी शायरियों का संग्रह जिसको व्हाट्सप्प, फेसबुक, एस एम एस, ट्विटर इत्यादि के द्वारा शेयर करके अपने चाहने वालों पर आप अपना एक अच्छा ख़ासा प्रभाव डाल सकते हैं ।

तो आज ही अपने किसी ख़ास पर अपनी चाहत का रंग छोड़े हमारी वेबसाइट पर उब्लब्ध प्यार इश्क़ मोहब्बत भरी शायरी को उनसे साँझा करके ताकि उन्हें आपकी फीलिंग्स का उन्हें पता चल सके।

Hindi Love Pyar Bhari Shayari Collection

Best Hindi love shayari collection is available exclusively for you. So share these pyar bhari shayari with your lover today and impress him / her.

AsliShayari has brought for you the latest bunch of love shayari in Hindi. So don’t waste your time and send these amazing ishq mohabbat shayari collection with the someone you love using Whatsapp, Facebook, Twitter, Instagram and all other social means you use and let your lover know how much you love him / her.

phoolon ne sapno ki shayari

Phoolon ne sapno ki shayari

फूलों ने सपनो की,

सच्चाई दिखाई है,

वफ़ा बेशक न मिली हो मुझे,

पर मोहब्बत मैंने दिल से निभायी है …

Phoolon ne sapno ki,

Sachchayi dikhayi hai,

Wafa beshq na mili ho mujhe,

Par mohabbat maine dil se nibhayi hai…

kitni mohabbat hai tumse

Kitni mohabbat hai tumse shayari

कितनी मोहब्बत है तुमसे,

दो लब्ज़ों से कैसे बताऊँ?

महसूस करवाने के लिए मेरे जज़्बातों की,

अब गवाह कहाँ से लाऊँ??

Kitni mohabbat hai tumse

Do labzon se kaise bataau,

Mehsoos karwaane ke liye mere jajbaaton ki,

Ab gawaah kahan se laau??

barbaad kar diya mujhe love shayari

Barbaad kar diya teri nigahon ne love shayari

बर्बाद कर दिया मुझे,

तेरी इन मस्त निगाहों ने,

सौ साल जी लेते,

अगर दीदार-ऐ-हुस्न तेरा ना किया होता…

Barbaad kar diya mujhe,

Teri in mast nigaahon ne,

Sau saal jee lete,

Agar deedar-e-husn tera naa kiya hota…

tumhara sath hai to pyar love shayari

Tumhara sath hai to mujhe kya kami hai pyar wali shayari

तुम्हारा साथ है तो मुझे क्या कमी है,

तुम्हारी मुस्कराहट से मिलती मुझे हर ख़ुशी है,

रहना सदा मुस्कुराते हुए यूँही ज़िन्दगी भर,

क्योंकि तुम्हारी इसी मुस्कराहट में मेरी जान बसी है

Tumhara saath hai to mujhe kya kami hai,

Tumhaari muskuraahat se milti mujhe har khushi hai,

Rehna sada muskuraate huye yoonhi zindagi bhar,

Kyonki tumhaari isi muskuraahat mein meri jaan basi hai

in ankhon ka kya kasoor pyar shayari

In aankhon ka kya kasoor pyar shayari

इन आँखों का क्या कसूर,

जो दिल तुमसे लगा लिया,

तुम हो ही इतने अच्छे,

कि इस दिल में तुम्हे बसा लिया !!

In aankhon ka kya kasoor

Jo dil tumse laga liya,

Tum ho hi itne achche,

Ki is dil mein tumhe basaa liya

husn ki rani ho pyar shayari

Husn ki rani ho pyar bhari shayari

हुस्न की रानी हो,

या हो कोई सांवली सूरत,

मोहब्बत अगर सच्ची हो,

तो हर मुखड़ा बेमिसाल लगता है

Husn ki rani ho,

Ya ho koi saanwli soorat,

Mohabbat agar sachchi ho,

To har mukhdaa bemisaal lagta hai

kabhi mohabbat bhi pila do shayari

Kabhi mohabbat bhi pila do hindi shayari

कभी मोहब्बत भी पिला दो चाय में,

मैं खुद-ब-खुद तेरा हो जाऊँगा…..

Kabhi mohabbat bhi pila do chai mein,

Main khud-b-khud tera ho jaunga…..

————————————–

हमें एक दुसरे से कुछ इस क़दर मोहब्बत हो गई है,

कि दिल तो दो हैं लेकिन धड़कन एक हो गई है

Humein ek doosre se kuchh is kadar mohabbat ho gayi hai,

Ki dil to do hain lekin dhadkan ek ho gayi hai…

———————–

आओ अपनी बाहों में समेट लूँ तुम्हे,

कि दिल-ए-बेताब को और कुछ भी अच्छा लगता नहीं,

छुपा लूँ मैं अपनी साँसों में तुम्हे,

अगर कोई पूछे तो कह देना जान हो मेरी

Aao apni baahon mein samet loon tumhe,

ki dil-e-betaab ko aur kuchh bhi achcha lagta nahi,

Chhupaa loon main apni saanson mein tumhe,

Agar koi puchhe to keh dena jaan ho meri ….

chaand se apna ishq

Chaand se apna ishq likhein shayari

चाँद से अपना इश्क़ लिखें,

या नींद से अपना बैर लिखें,

तू ही तो इस दिल की धड़कन है,

फिर तुझे भला कैसे गैर लिखें…

Chaand se apna ishq likhein

Yaa neend se apna bair likhein,

Tu hi to is dil ki dhadkan hai,

Phir tujhe bhala kaise gair likhein…

tumhaari ye berookhi nazrein

Tumhaari ye berookhi si nazrein love shayari

तुम्हारी ये बेरूख़ी सी नज़रें,

मुझे बहुत सताती हैं,

सोचता तो हूँ कि तुमसे दूर चला जाऊं,

लेकिन ये मुझे और भी तुम्हारे करीब ले आती हैं !!

Tumhaari ye berookhi si nazarein,

Mujhe bahoot sataati hain…

Sochta to hoon tumse door chalaa jaaun,

Lekin ye mujhe aur bhi tumhaare kareeb le aati hain…

naa dhan daulat

Naa dhan-daulat, naa shauhrat

ना धन-दौलत, ना शौहरत,

और ना वाह-वाह चाहिए,

कैसे हो? कहाँ हो?

बस इन दो शब्दों की परवाह चाहिए

Naa dhan-daulat, naa shauhrat,

Aur naa waah-waah chahiye,

Kaise ho? kahan ho?

Bus in do shabdon ki parwaah chahiye