baarish ki boonde pyar shayari

Dil di dhadkan mehsoos hone lagi hai

बारिश की बूंदे हमें भिगोने लगी हैं,
दिल में यादों का हार पिरोने लगी हैं,
सताती है हर पल तुम्हारी ही कमी,
तुम्हारे दिल की धड़कन अब हमें महसूस होने लगी हैं

Baarish ki boonde humein bhigone lagi hain,
Dil mein yaadon ka haar pirone lagi hain,
Satati hai har pal tumhaari hi kami,
Tumhaare dil ki dhadkan ab humein mehsoos hone lagi hai

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *