Home » SMS » Life Shayari

Life Shayari

Life Shayari, Hindi Life Shayari, SMS on Life in Hindi, Zindagi Shayari SMS

thamti nahi zindagi shayari

Thamti nahi zindagi kabhi shayari

थमती नहीं ज़िन्दगी कभी,

किसी के बिना,

लेकिन ये गुज़रती भी नहीं,

अपनों के बिना..

Thamti nahi zindagi kabhi,

Kisi ke bina,

Lekin ye gujarati bhi nahi,

Apno ke binaa…

shabd meri pehchaan bane

Shabd meri pehchaan bane

ये शब्द मेरी पहचान बने तो ही अच्छा है,

चेहरे का क्या है, ये तो मेरे साथ ही चला जायेगा

Ye shabd meri pehchaan bane to achcha hai,

Chehre ka kya hai, ye to mere saath hi chala jayega…

ye umr zindagi life shayari

Ye umr aur zindagi shayari

ये उम्र और ज़िन्दगी बिना रुके बढ़ते ही जा रहे हैं,

और हम आज भी अपनी ख्वाहिशें लेकर वहीं खड़े हैं !!

Ye umr aur zindagi bina ruke badhte hi jaa rahe hain,
.
.
.
Aur hum aaj bhi apni khwahishe lekar wahi khade hain !!

ye naa poochho

Ye naa poochho

ये ना पूछो,
कि ये ज़िन्दगी ख़ुशी कब देती है?
क्योंकि ये शिकायत उसे भी है,
जिसे ये ज़िन्दगी सब देती है

Ye naa poochho,
ki zindagi khushi kab deti hai?
Kyonki ye shikaayat use bhi hai
Jise ye zindagi sab deti hai

life shayari

Main Karta Hoon Kadi Dhoop Mein Mehnat

मैं करता हूँ कड़ी धुप में मेहनत सिर्फ इस यकीं के साथ,
मैं जलूँगा तो ही मेरे घर में रौशनी होगी !!

Main karta hoon kadi dhoop mein mehnat sirf is yakeen ke saath,
Main jaloonga to hi mere ghar mein roshni hogi !!

Bahut Pehle Se Hi – Life Shayari in Hindi

बहुत पहले से ही हम उन क़दमों की आहट को जान लेते हैं,
तुम्हे तो ऐ ज़िन्दगी, हम दूर से ही पहचान लेते हैं !!

Bahut pehle se hi hum un kadmon ki aahat ko jaan lete hain,
Tumhe to E zindagi, hum door se hi pehchaan lete hain !!

Jab Bhi Dekhta Hoon – Hindi Life Shayari

जब भी देखता हूँ किसी गरीब को हँसते हुए,
तब एहसास होता है कि खुशियों का दौलत से कोई मुक़ाबला नहीं !!

Jab bhi dekhta hoon kisi gareeb ko hanste huye,
Tab ehsaas hota hai ki khushiyon ka daulat se koi muqabla nahi !!

Ek Pehchaan Hazaaron Mitra Bana Deti Hai – Zindagi Shayari

एक पहचान हज़ारों मित्र बना देती है,
एक मुस्कराहट हज़ारों दुःख भुला देती है,
ज़िन्दगी के सफर में जरा संभल कर चलना लोगों,
एक ज़रा सी चूक हज़ारों ख़्वाब जला कर राख बना देती है !!

Ek pehchaan hazaaron mitra bana deti hai,
Ek muskuraahat hazaaron dukh bhula deti hai,
Zindagi ke safar mein jara sambhal kar chalna logon,
Ek zara si chook hazaaron khawaab jalaa kar raakh bana deti hai !!