Category: Love Shayari

देखिये नया कलेक्शन हिंदी लव शायरी का | अपने महबूब के लिए पाये प्यार भरी इश्क मोहब्बत वाली शायरी हिंदी में ऑनलाइन हमारी वेबसाइट पर !!

Explore latest collection of hindi love shayari. Apne Mehboob Ke Liye paaye Pyar bhari ishq mohabbat wali shayari hindi mein online hamari website par.

Love Shayari, Hindi Love Shayari, Best Hindi Love SMS, Latest Love Shayari SMS in Hindi

hair pyar naam jiska love hindi shayri 0

Hai pyaar naam jiska, ek aisi kaid hai doston

है प्यार नाम जिसका, एक ऐसी है क़ैद दोस्तों, ज़िन्दगी बीत जाती है पर सज़ा ख़त्म नहीं होती | Hai pyaar naam jiska, ek aisi kaid hai doston, Zindagi beet jaati hai par sazaa khatm nahi hoti. ———————– चाहा तुम्हे हमेशा पर कभी इज़हार ना कर सका, कट गई उम्र सारी पर किसी और से प्यार न कर सका, तुमने माँगा भी तो मांगी जुदाई अपनी, और मैं था कि इन्कार भी ना कर सका Chaaha tumhe hamesha par kabhi izhaar naa kar sakaa, Kat gai umar saari par kisi aur se pyar na kar sakaa, Tumne maanga bhi to...

raaj dilon ke khol dete hain pyar bhari shayari 0

Raaz dilon ke khol dete hain naazuk se ishaare aksar

राज़ दिलों के खोल देते हैं नाज़ुक से इशारे अक्सर, कि कितनी ख़ामोश इस इश्क़ की जुबां होती है… Raaj dilon ke khol dete hain naazuk se ishaare aksar, Ki kitni khaamosh is ishq ki zubaan hoti hai…

haal apna tujhe bataun kaise love shayari 0

Haal Tujhe Main Apna Batau Kaise

हाल तुझे मैं अपना बताऊँ कैसे, चीर के दिल तुझे अपना दिखाऊँ कैसे, है रोना वही हमेशा का अभी भी, दास्ताँ मैं अपनी फिर दोहराऊँ कैसे, ग़म की अपनी बातें तुझे सुनाऊँ कैसे, मेरी ख़ामोशी में ही तेरी मोहब्बत है, अपने इन लब्ज़ों को मैं हिलाऊं कैसे || Haal tujhe main apna batau kaise, Cheer ke dil tujhe apna main dikhaaun kaise, Hai rona wahi hamesha ka abhi bhi, Daastaan main apni fir dohraaun kaise, Gum ki apni baatein tujhe sunaau kaise, Meri khamoshi mein hi teri mohabbat hai, Aapne in labjo ko main hilaaun kaise…

love shayari dil ki kitaab 0

Dil Ki Kitaab Mein Gulaab Uska Tha

दिल की किताब में गुलाब उसका था, रातों की नींद में ख्वाब उसका था, कितना प्यार करती हो जब पूछा उससे मैंने, मर जाऊँगी तुम्हारे बिना जवाब उसका था || Dil ki kitaab mein gulaab uska tha, Raaton ki neend mein khwaab uska tha, Kitna pyaar karti ho jab puchha usse maine, Mar jaungi tumhaare bina jawaab uska tha.

love shayari romance 0

Chhupa Lein Hum Ek Doosre Ko Apni Aagosh Mein Is Tarah

छुपा लें हम एक दुसरे को अपनी आगोश में इस तरह, कि हवा भी ना गुजर पाएं, हो जाएँ मदहोश एक दुसरे की मोहब्बत में इस कदर, कि होश में ही ना आ पाएं !! Chhupa lein hum ek doosre ko apni aagosh mein is tarah, ki hawaa bhi naa gujar paaye, Ho jaayein madhosh ek doosre ki mohabbat mein is kadar, Ki hosh mein hi naa aa paayein

Love shayri quote 0

Wo Samay Wo Pal Kuchh Ajeeb Honge – Hindi Love Shayari

वो समय और वो पल कुछ अजीब होंगे, इस दुनिया में हम जब खुशनसीब होंगे, दूर होने पर जो इतना याद करते हैं हम आपको, क्या होगा जब आप मेरे करीब होंगे !! Wo samay wo pal kuchh ajeeb honge, Is duniya mein jab hum khushnaseeb honge, Door hone par jo itna yaad karte hain hum aapko, Kya hoga jab aap mere kareeb honge !!!

0

Chaahu to Naam Likh Doon

चाहुँ तो नाम लिख दूँ उसका अपनी हर शायरी के साथ, लेकिन फिर सोचता हूँ कि बहुत भोली है मेरी जान, कहीं बदनाम ना हो जाए !! Chaahu to naam likh doo uska apni har shayari ke saath Lekin phir sochta hoon ki Bahut bholi hai meri jaan, kahin badnaam naa ho jaaye !!

0

Bahut Achchhi Hansi Thi Kabhi Hamaari

बहुत अच्छी हँसी थी कभी हमारी, मगर जब से फँसा हूँ जाल में उनके, उनसे शर्माने का ये आलम है, कि अब हम रुक-रुक कर हँसने लगे हैं … Bahut achchhi hansi thi kabhi hamaari, Magar jab se fasa hoon jaal mein unke, Unse sharmaane ka ye aalam hai, Ki ab hum ruk ruk kar hasne lage hain…

0

Fir Se Shayari Likhun – Hindi Love Shayari

फिर से शायरी लिखूं, फिर से उसी तरह लिखूं, तुम कहो तो तुम्हारे नाम के साथ वफाओ का तराना लिखूं , तुम कहो तो वही एहसास लिखूं तुम कहो तो तुम्हारे ख़्वाबों का आना-जाना लिखूं !!! Fir se shayari likhun, Fir se usi tarah likhun, Tum kaho to tumhaare naam ke saath wafaon ka taraana likhun, Tum kaho to wahi ehsaas likhun Tum kaho to tumhaare khwaabon ka aana-jaana likhun !!!

0

Tere Jalwon Ka Mujhpar – Hindi Love Shayari on Humsafar

तेरे जलवों का मुझपर ए हसीना कुछ ऐसा असर हो गया, इस दुनिया से मैं बेखबर हो गया ! दिखता ही नहीं मुझे कुछ भी अब तेरे अलावा, तू ही मेरी आखिरी मंजिल और तू ही हमसफ़र हो गया !! Tere jalwon ka mujhpar e haseena kuchh aisa asar ho gaya, Is duniya se main bekhabar ho gaya ! Dikhta hi nahi mujhe kuchh bhi ab tere alawa, Tu hi meri aakhiri manjeel aur tu hi humsafar ho gaya !!