hai ye sharab dard ki dawa mere shayari

Hai ye sharaab dard ki dawa mere

है ये शराब दर्द की दवा मेरे,
इसे पीने में कोई खराबी नहीं,
होता है जब दिल में दर्द तो पी लेता हूँ,
वैसे हूँ मैं शराबी नहीं |

Hai ye sharaab dard ki dawa mere,
Isey peene mein koi kharaabi nahi,
Hota hai jab dil mein dard to pee leta hoon,
Waise hoon main sharaabi nahi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *