tumhaari yaadon mein hain shayari

Hum tumhaari yaadon mein hain

हम चाहे जहाँ भी हैं पर अभी भी तुम्हारी यादों में हैं,
जो बीत रही है तनहा उन तमाम रातों में हैं,
यहाँ वहाँ मुड़कर ना ढूंढो हमें,
बनकर नशा अभी भी हम तुम्हारी आँखों में हैं।

Hum chaahe jahan bhi hain par abhi bhi tumhaari yaadon mein hain,
Jo beet rahi hai tanhaa un tamaan raaton mein hain,
Yahaa wahaa mudhkar naa dhoondho humein,
Bankar nasha abhi thi hum tumhaari aankhon mein hain…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *